बेमौसम बारिश-ओलावृष्टि से फसल खराब, किसानों ने लगाई मुआवजे की गुहार

0
305

 

जयपुर। राजस्थान में बेमौसम की बारिश ने एक फिर किसानों की उम्मीदों पर पानी फेर दिया। किसानों के खेतों में खड़ी जीरे, ईसबगोल और गेहूं की फसल बर्बाद हो चुकी है। इस बेमौसम बारिश से किसानों को करोड़ों के नुकसानों की आशंका जताई जा रही है। पश्चिमी विक्षोभ के कारण 4 मार्च से ओलावृष्टि और बारिश का दौर शुरू हुआ था जो अभी भी थमा नहीं है। रुक-रुक कर बारिश व ओलावृष्टि का जारी है।

सरकार से लगाई मुआवजे की गुहार
इस बेमौसम बारिश ने किसानों की वर्षो की मेहनत पर चंद सेकेंडो में पानी फेर दिया. किसान अपनी फसल को देखकर सरकार और प्रशासन से मुआवजे की गुहार लगा रहा है। वहीं जिला प्रशासन ने गिरदावरी के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देश दे दिए है। किसान अजय सिंह ने बताया कि तेज अंधड़ और मेघ गर्जना के साथ बारिश हुई। बेमौसम बारिश और चने के आकार के ओलों ने किसानों के अरमानों पर पानी फेर दिया। आधे से ज्यादा किसानों की खेत में खड़ी गेहूं और सरसों की फसल को नुकसान हुआ है।

72 घंटे में बीमा कंपनी को दें सूचना
भरतपुर जिला कलक्टर आलोक रंजन ने फसल खराबे की गिरदावरी कराने के सबंधित अधिकारियो को निर्देश दिये हैं। वही किसानों से भी आग्रह किया है कि वे फसल खराबे की सूचना 72 घंटे में आवश्यक रूप से बीमा कम्पनी अथवा संबंधित कृषि विभाग के ग्राम सेवक को दें। ताकि फसल खराबे वाले किसानों को आवश्यक मुआवजा मिल सके।