मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा को बीजेपी से भी बड़ी चुनौती, कांग्रेस से कैसे निपटेंगे

    0
    126

    जयपुर। राजस्थान में बीजेपी ने भजनलाल शर्मा को मुख्यमंत्री बनाया है। अब उनके सामने कई बड़ी चुनौतियां है। भजनलाल के पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को साधना सबसे बड़ी चुनौती मानी जा रही है। वहीं, कांग्रेस के सियासी हमलों से भी निपटना होगा। सियासी जानकारों का कहना है कि लोकसभा चुनाव में पार्टी के प्रदर्शन बेहतर रहता है विरोधी चुप रहेंगे। यदि कांग्रेस ने कुल 25 में से 7-8 सीटें जीत लेती है तो सीएम भजन लाल शर्मा की कुर्सी पर संकट मंडराने लगे जाएंगे। जानकारों का कहना है कि वसुंधरा राजे कैंप के नेता फिलहाल चुप्पी साधे हुए है। यह तय माना जा रहा है कि वसुंधरा समर्थकों को मंत्री नहीं बनाया जा रहा है। ऐसे में वरिष्ठ नेताओं की अनदेखी सीएम भजन लाल के लिए सिरदर्द पैदा कर सकती है।

    बीजेपी से भी सीएम शर्मा को बड़ी चुनौती
    सियासी जानकारों का कहना है कि बीजेपी में ही एक धड़ा सीएम भजनलाल शर्मा को पसंद नहीं कर रहा है। हालांकि, फिलहाल चुप्पी साधे हुए है। सियासी जानकारों का कहना है कि जब अशोक गहलोत की 2018 में सीएम बनाया गया था तो एक धड़ा नाराज हो गया था। लेकिन चुप रहा। ऐसी ही हालात बीजेपी में भी हो सकता है। हालांकि, सियासी जानकारों का यह भी कहना है कि बीजेपी में लीडरशिप मजबूत है। इसलिए ऐसा नहीं होगा। तारानगर में विधानसभा का चुनाव हारे पूर्व नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र सिंह राठौड़ का आरोप है कि पार्टी के जयचंदों की वजह से उनको हार सामना करना पड़ा है। राठौड़ का इशारा वसुंधरा राजे गुट के सांसद रामसिंह कस्वां की तरफ माना जा रहा है।