मांस खाने व खून पीने के लिए 9 साल के बच्‍चे की हत्या, निठारी कांड की यादे हुई ताजा

    0
    947

     

    आठ साल के बच्चे दीपू की हत्या के मामले में दिल दहलाने वाला खुलासा हुआ है। बच्चे के परिवार के ही करीबी 16 साल के किशोर ने इंसानी मांस खाने और खून पीने के लिए दीपू की हत्या की थी। बताया जाता है कि कि आरोपी ने यह बात खुद कबूल की है, लेकिन आधिकारिक तौर पर पुलिस यह मानने को तैयार नहीं है।

    पुलिस ने आरोपी किशोर को दास्तायाब कर लिया है, जिसकी पहचान शेख कॉलोनी शहीद करनैल सिंह नगर निवासी विकेश के रूप में हुई। डीसीपी ने बताया कि उसे आज अदालत में पेश किया जाएगा। इस मामले ने कई साल पहले नोएडा में हुए निठारी कांड की यादें दिला दी है।

    बच्चे के शरीर के कर दिए थे 6 टुकड़े

    डीसीपी भूपिंदर सिंह ने बताया कि 17 जनवरी की शाम शेख कॉलोनी के प्लॉट में आठ वर्षीय दीपू का शव मिला था। शव के सिर समेत छह टुकड़े किए गए थे। जांच अधिकारी एडीसीपी कुलदीप शर्मा व एसएचओ प्रेम सिंह को सीसीटीवी कैमरे की फुटेज में दीपू विकेश के साथ जाता नजर आया। इसके बाद पुलिस ने नाबालिग विकेश को दास्तायाब कर लिया।

    पतंग व डोर दिलाने के बहाने ले गया था साथ

    पुलिस की प्राथमिक जांच में सामने आया कि आरोपी विकेश मनोरोगी है। पूछताछ में उसने बताया कि वह अकसर अपने हाथ की अंगुलियां काटने लगता था। वह कच्चा मांस खाने का शौकीन है। अधिकारियों ने बताया कि आरोपी विकेश बकरे व मुर्गे का कच्चा मांस खाता था। विकेश व दीपू के परिवार उत्तर प्रदेश के जिला कानपुर के उन्नाव का रहने वाले हैं। इसलिए दोनों का एक-दूसरे के घर आना-जाना था। घटना वाले दिन आरोपी दीपू को घर से पतंग व डोर दिलाने का झांसा देकर साथ ले गया था।

    गला दबा की हत्या, बाथरूम में किए छह टुकड़े

    आरोपी विकेश मासूम दीपू को अपने घर ले गया, जहां उसने बेड पर गिरा दीपू का गला घोंटने की कोशिश की। बचाव में दीपू ने विकेश के हाथ पर दांत से काट दिया। इसके बाद आरोपी ने बच्चे को गला दबाकर मार डाला। इसके बाद आरोपी शव को बाथरूम में ले गया, जहां उसने दीपू की जांघ से मांस निकाल कर खाया। इसके बाद आरोपी ने तेजधार खुरपे से दीपू के शव के कई टुकड़े कर दो बोरियों में डाल अपने घर से सटे एक खाली प्लॉट में फेंक दिया।

    स्कूल को बदनाम करने के लिए प्रांगण में फेंका दिल

    डीसीपी ने बताया कि विकेश पंजाबा माता नगर स्थित होली हार्ट सीनियर सेकेंडरी स्कूल में आठवीं का छात्र था। लेकिन, उसे स्कूल जाना अच्छा नहीं लगता था। विकेश का कहना था कि वहां पढ़ाई से ज्यादा आशिकी होती थी, इसलिए स्कूल को बंद करवाने के लिए उसने दीपू का दिल निकाल स्कूल में वाटर कूलर के पीछे फेंक दिया जिसे पुलिस ने बरामद कर लिया। पोस्टमार्टम के बाद डॉक्टरों ने बताया कि वो दिल दीपू का ही है।

    डीसीपी ने कहा कि पूछताछ के साथ मनोचिकित्सिक की भी सेवाएं ली जा रही हैं, ताकि आरोपी विकेश का इलाज भी कराया जा सके।

    RESPONSES

    Please enter your comment!
    Please enter your name here