वकील ने एसडीएम कार्यालय में किया आत्मदाह, सड़कों पर उतरे अधिवक्ता

    0
    393

    जयपुर। राजस्थान के सीकर जिले के खंडेला उपखंड के एसडीएम कार्यालय में एक वकील द्वारा आत्मदाह करने का मामला सामने आया है। अधिवक्ता हंसराज मालवीय ने एसडीएम कोर्ट में पेट्रोल छिड़ककर आत्मदाह का प्रयास किया। कोर्ट परिसर में अचानक हुए इस घटनाक्रम से भगदड़ मच गई। कार्यालय में मौजूद कर्मियों ने वकील को आग की लपटों से बचाने का काफी प्रयास किया, लेकिन तब तक वे काफी झुलस चुके थे। बाद में उन्हें इलाज के लिए जयपुर ले जाया गया जहां उनकी मौत हो गई। मौत के बाद वकीलों ने खंडेला में धरना करना शुरू कर दिया। वकीलों ने दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

    सुसाइड नोट में भ्रष्टाचार के संगीन आरोप
    आत्मदाह करने वाले वकील के बैग से सुसाइड नोट मिला है। इसमें उसने एसडीएम ऑफिस में भ्रष्टाचार के संगीन आरोप लगाये हैं। अपने सुसाइड नोट में वकील ने एसडीएम और थानाधिकारी पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है। वकील ने लिखा है कि एसडीएम ऑफिस में बिना दलालों के और पैसे के कोई काम नहीं होता है। एसडीएम उसे वकालत बर्बाद करने की धमकी दे रहे थे। घटना की जानकारी मिलने के बाद सीकर, जयपुर और बीकानेर समेत प्रदेश के कई जिलों में अधिवक्ताओं में जबर्दस्त आक्रोश फैल गया और वे सड़कों पर आ गये हैं।

    वकील का वीडियो आया सामने
    आग से झुलसने के बाद इलाज के दौरान का वकील का एक वीडियो सामने आया है। उसमें में साफ सुनाई दे रहा है कि वकील एसडीएम ऑफिस में भ्रष्टाचार और दलालों का आरोप लगा रहा है। वकील का कहना था कि यहां पर सब भ्रष्ट है। वकील हंसराज ने इसके साथ-साथ थानाधिकारी पर भी आरोप लगाये हैं।