देश- दुनिया में मशहूर मरू महोत्सव की तैयारियां शुरू, सांसकृतिक प्रतियोगिताओं से पर्यटक होंगे सराबोर

    0
    2176

    देश-दुनिया में मशहूर जैसलमेर का परंपरागत तीन दिवसीय मरु महोत्सव 8 से 10 फरवरी तक आयोजित किया जाएगा। इसे लेकर पर्यटन विभाग और जैसलमेर जिला प्रशासन की ओर से तैयारियां शुरू कर दी गई है।

    डेजर्ट फेस्टिवल जैसलमेर का एक प्रसिद्ध पर्यटक आकर्षण है, जो शहर से 42 किमी दूर स्थित सैम रेत टिब्बा में, फरवरी में आयोजित होता है। पर्यटक विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रमों, ऊंट दौड़, पगड़ी बांधने, और सबसे अच्छी मूँछ की प्रतियोगिता का आनंद ले सकते हैं। यह राजस्थान पर्यटन बोर्ड द्वारा आयोजित एक तीन दिवसीय त्योहार है।

    ऊंट की सवारी बना सकती हैं यात्रा को यादगार

    यह शुरू में राजस्थान की तरफ और अधिक विदेशी पर्यटकों को आकर्षित करने के उद्देश्य के साथ शुरू किया गया था। प्रसिद्ध गेर और आग नर्तकियों के कामुक प्रदर्शन और ऊंट की सवारी यात्रा को यादगार बना सकते हैं। त्योहार स्थल पर पर्यटकों की सुविधा के लिए स्थानीय प्रशासन चिकित्सा वैन, यादगार वस्तुओं की दुकानों, और मोबाइल मनी एक्सचेंजर्स की सुविधाएँ भी मिलती हैं।

    पर्यटन विभाग और जैसलमेर जिला प्रशासन का अभिनव प्रयास

    इस बार यह महोत्सव नए रंगों और अभिनव आकर्षक कार्यक्रमों के साथ नयापन लिए हुए होगा। पर्यटन विभाग और जैसलमेर जिला प्रशासन की ओर से हरसंभव प्रयास किया जाता हैं कि जो भी महोत्सव में आए, उसे भरपूर आनंद और आत्मतोष मिले तथा मीठी और अविस्मरणीय यादों के साथ लौटे। इसके लिए मरु संस्कृति से परिपूर्ण आंचलिक रंगों का भी बेहतर समावेश हो तथा स्थानीय लोगों एवं आने वाले सैलानियों की अधिक से अधिक भागीदारी हो।

    इस प्रकार होंगे कार्यक्रम

    मरू महोत्सव के प्रस्तावित कार्यक्रमों के तहत महोत्सव का शुभारंभ 8 फरवरी को गडसीसर लेक से शोभायात्रा से होगा तथा यह शोभायात्रा शहीद पूनमसिंह स्टेडियम पंहुचेगी जहां पर मरू महोत्सव का विधिवत् शुभारम्भ होगा एवं प्रथम दिवस साफा बांध, मूमल-महिन्द्रा, मूंछ, मिस मूमल, मरुश्री प्रतियोगिताओं का आयोजन होगा एवं सांय को सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित होगा। इसी प्रकार 9 फरवरी के कार्यक्रम डेडांसर मैदान में होंगे वहां पर ऊंट श्रृंगार, शान ए मरुधरा, रस्साकशी, पणिहारी मटका आदि प्रतिस्पर्धाएं होंगी इसके साथ ही सीमा सुरक्षा बल द्वारा केमल टेटू शो का आयोजन भी प्रस्तावित है। इसके साथ ही दूसरे दिवस को सांय शहीद पूनमसिंह स्टेडियम में भव्य सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित होगा। मरू महोत्सव का समापन 10 फरवरी को सम के मखमली धोरो पर होगा यहां पर रेतीले धोरों पर ऊंट दौड़ प्रतियोगिताएं, पतंग उड़ानबाजी शो होगा।

    RESPONSES

    Please enter your comment!
    Please enter your name here