सचिन पायलट पर अशोक गहलोत के बयान ने मचाई सियाासत में उथल-पुथल

    0
    264

    जयपुर। दो साल पहले आए सियासी संकट पर राजस्थान में जो ताजा घमासान मचा हुआ है, उसे लेकर हर कोई हैरान है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की ओर से शनिवार को सीकर में दिए गए बयान ने सियासी पारा चढ़ा दिया है। एकजुटता के तमाम दावों के बावजूद गहलोत-पायलट की सियासी अदावत जगजाहिर है। लेकिन सियासी बगावत का चैप्टर क्लोज होने के बाद यह पहली बार है जब गहलोत ने सीधे तौर पर सचिन पायलट के सरकार गिराने की साजिश में शामिल होने का आरोप लगाया है। बीते लंबे समय से गहलोत-पायलट के बीच कोल्ड वार तो चल रहा था लेकिन खुले तौर पर एक-दूसरे का नाम लेने से परहेज किया जा रहा था।

    सरकार गिराने की साजिश में पायलट!
    सीएम गहलोत हमला तो केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत पर बोल रहे थे लेकिन बयान की सुई शेखावत के साथ सचिन पायलट पर भी घूम गई। बीते दिनों गजेंद्र सिंह शेखावत ने सचिन पायलट से चूक होने का बयान दिया था। इस पर सीएम गहलोत ने पलटवार करते हुए कहा कि इससे प्रूव हो गया कि सरकार गिराने की साजिश में आप सचिन पायलट के साथ मिले हुए थे। सीएम गहलोत का यह बयान आते ही राजनीतिक गलियारों में इसे लेकर चर्चा शुरू हो गई।

    सियासी अटकल
    मुख्यमंत्री के इस बयान को राहुल गांधी द्वारा पिछले दिनों दिए गए बयान से भी जोड़कर देखा जाने लगा है। दिल्ली में कांग्रेसियों को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा था कि मैंने और सचिन पायलट ने काफी पेशेंस रखा है। राहुल गांधी के इस बयान को बड़ा सियासी इशारा समझा गया। सचिन पायलट के करीबी और उनके समर्थक यह मानकर चल रहे हैं कि प्रदेश में जुलाई महीने में बड़ा सियासी उलटफेर होने वाला है। अब मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बयान को भी पायलट समर्थक इसी सियासी अटकल से जोड़ रहे हैं।