31 मार्च के बाद मिले अगर 500-1000 के पुराने नोट! तो जाना पड़ेगा आपको जेल

0
815

पुराने नोटों पर अध्यादेश को बुधवार को कैबिनेट की मंजूरी मिल गई है। इसके तहत केंद्र सरकार 31 मार्च के बाद किसी के पास एक सीमा से ज्यादा पुराने 500 और 1,000 का नोट पाए जाने पर चार साल तक की जेल हो सकती है। इसके साथ ही पुराने नोटों में लेन-देन करने पर 5000 रुपये तक के जुर्माने का प्रावधान भी किया गया है। यही नहीं, सरकार और रिजर्व बैंक की इन नोटों के धारकों को उनके नोट का मूल्य देने का वादा करने वाली देनदारी भी समाप्त हो जाएगी। वैसे तो पुराने नोट 30 दिसंबर के बाद ही बैंकों में नहीं लिए जाएंगे, लेकिन इन्हें 31 मार्च तक रिजर्व बैंक में जमा किया जा सकेगा।

अध्यादेश से 500 और 1000 के पुराने नोटों की औपचारिक तौर पर वैधता समाप्त हो जाएगी। राष्ट्रपति की मंजूरी मिलने के बाद अध्यादेश लागू हो जाएगा।

हालांकि, यह नहीं बताया गया है कि 30 दिसंबर के बाद पुराने नोट पाए जाने पर कार्रवाई होगी या फिर 31 मार्च 2017 के बाद। 500 और 1000 रुपए के पुराने नोटों को 30 दिसंबर 2016 तक बैंकों या डाकघरों में जमा किया जा सकता है। इसके बाद पुराने नोट सिर्फ आरबीआई में जमा किए जा सकेंगे। आरबीआई में पुराने नोट जमा करने की समय सीमा 31 मार्च 2017 है।

10 से ज्यादा पुराने नोटो पर चार साल की जेल भी

किसी व्यक्ति के पास 10 से ज्यादा पुराने नोट पाए जाने पर उसके खिलाफ कार्रवाई होगी। उस शख्स पर जुर्माना लगाया जा सकता है और कुछ विशेष मामलों में 4 साल तक की सजा हो सकती है।

छपाई के लिए ओवरटाईम से इनकार

पश्चिम बंगाल के सालबोनी की आरबीआई प्रिंटिंग प्रेस के कर्मचारी ज्यादा काम करने से बीमार पडऩे लगे हैं। नतीजतन, अधिकतर ने ओवरटाइम करने से साफ इनकार कर दिया है।

उम्मीद… 30 दिसंबर के बाद रोजाना बैंक और एटीएम से 4 हजार निकाल सकेंगे

सरकार 30 दिसंबर को नोटबंदी के 50 दिन पूरे होने पर रोजाना बैंक या एटीएम से पैसा निकालने की सीमा को बढ़ाने की तैयारी में है। माना जा रहा है एक दिन में 2500 रुपए की मौजूदा सीमा बढ़ाकर 4 हजार रुपए तय की जा सकती है। यही नहीं, एक सप्ताह में अधिकतम 24 हजार रुपए निकालने की निकासी सीमा को 40 हजार रुपए तय किया जा सकता है। सरकार ने इस संबंध में निर्णय ले लिया है। औपचारिक रूप से इसका ऐलान होना बाकी है। माना जा रहा है कि 30 दिसंबर को पीएम मोदी राष्ट्र के नाम संदेश जारी कर सकते हैं।

खबरों के अनुसार पुराने नोट रखने की सीमा 10 हजार तक रखी जा सकती है, इस नियम का उल्लंघन करने पर 50,000 रुपये अधिकतम या जितनी राशि मिलेगी उसका पांच गुना जुर्माना जो भी ज्यादा हो लगाया जा सकता है। सूत्रों ने कहा कि ऐसे नोट रखने वाले इन्हें 31 मार्च तक रिजर्व बैंक में जमा करा सकते हैं। हालांकि, इस अवधि को भी घटाया जा सकता है। इससे पहले 1978 में मोरारजी देसाई की जनता पार्टी सरकार ने 1,000, 5000 और 10,000 का नोट बंद करने के बाद सरकार की देनदारी को समाप्त के लिए इसी तरह का अध्यादेश लाया गया था।

RESPONSES

Please enter your comment!
Please enter your name here